बुधवार, 28 मार्च 2018

आजु समाज किए अतेक बिमार छै दुमुहा साप सन सभक किरदार छै जुनि भेट्त कियो एहि ठाँम जेहन्दार सभक सभ अगबे अगती कए सरदार छै जुनि पुछियौ ने हिन्का स हिनक इमान हिनक रक्त नलि मे प्रवाहित भ्रष्टाचार छै चोर कए चोर कहनैयो बात बड खराब छै चोरियो केनाए आब समानित अधिकार छै भ्रष्टाचार क पक्षपोषण मे ओहो अछी लागल प्रतिनिधि आ कि सरकार सब के सब बिमार छै जुनि हाथ पैर हाथ धरी निरास बैसु बाबु सब रोग क कुनु ने कुनु जरुर उपचार छै सब मिलजुलि दिय भ्रस्टाचार क जडि उपारि सभ्य समाज लेल सभ्यता के सरोकार छै By@ prabhat punam

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

b